आज की चौपाई

मोमिन आए अर्स अजीम से, हमारी हक सों निसबत |
दिया इलम लादुन्नी हकने, आई हक बका न्यामत||१||
खुलासा... प्र.. ५

Quiz

View All Quiz Answer.

Shri Nijanand Samparday

जाग्रत बुध इस संसार में कब आई समय वार सम्बत् सब बतायें सुन्दरसाथ जी

by Shri Nijanand Samparday

जाग्रत बुद्ध सम्वत् 1678 आशों सुदी एकादशी कृष्ण पक्ष में रविवार सुबह 8 बजे नौतनपुरी श्याम जी के मन्दिर में अवतरित हुई

Read Quiz →

Shri Nijanand Samparday

गरीब दास जी ने आठ पोहोर की सेवा में श्री जी से क्या प्रश्न पूछा था और श्री जी ने फिर क्या जवाब दिया बताईए सुन्दरसाथ जी

by Shri Nijanand Samparday

गुण धनी के याद कर,पकड़ पिया के पाय। सुखें बैठ सुखपाल में,देसी वतन पहुँचाये।। गरीब दास जी श्री जी से पूछते हैं कि हे धाम धनी हमने तो आपके ही चरन पकड़ रखे हैं सदा आपके ही गुण गाते हैं तो आप अभी सुखपाल मंगाओ और हमें धाम वापिस ले चलो तब श्री जी जवाब देते हैं कि सुन्दरसाथ जी धाम में तो भेले पौढ़े भेले जागसी होगा जब तक हरेक रूह जाग्रत नही हो जाएगी तब तक कोई धाम वापिस नहीं जा पायेगा

Read Quiz →

Shri Nijanand Samparday

वाणी में मेहर की बहुत बड़ी बात श्री जी ने बताई है वोह क्या है चौपाई से बताईए सुन्दरसाथ जी

by Shri Nijanand Samparday

वाणी में श्री जी ने फुरमाया है कि बात बड़ी है मेहर की,हक के दिल का प्यार। सो जाने दिल हक का, या मेहेर जाने मेहेर को सुमार।। बात बड़ी है मेहेर की, मेहेर होए न बिना अंकुर | अंकुर सोई हक निसबत, माहें बसत तज्जला नूर || दुःखरूपी इन जिमी में, दुःख ना काहूं देखत। बात बडी़ है मेहेर की,जो दुःख में सुख लेवत।।

Read Quiz →

Shri Nijanand Samparday

वाणी के अनुसार यहाँ अकसी बहिश्त किसे कहा है बताईए सुन्दरसाथ जी

by Shri Nijanand Samparday

श्री गुम्मट साहिब जी को अकसी बहिश्त कहा है

Read Quiz →